Ringtones Love Status News Loverays
Home » News » kaisa raha lambu amitabh se sadi ke mahanayak tak bachchan ka filmi safar

कैसा रहा लम्बू अमिताभ से सदी के महनायक तक बच्चन का फ़िल्मी सफर




7 नवम्बर जी हाँ यही वो तारीख है जब लगभग 50 साल पहले सन 1969 में भारत के मूवी लवर ऑडियंस ने बॉक्स आफिस पर एक दुबले पतले एक्टर की पहली झलक देखी थी। 07 नवम्बर 1969 को रिलीज हुई हिंदी फीचर फिल्म सात हिंदुस्तानी से अपने फ़िल्मी करियर का आगाज करने वाले ये लम्बू अमिताभ बाद में फिल्म इंडस्ट्री के सदी महानायक सदी अभिनेता अमिताभ बच्चन साबित हुए।
 
यूँ तो इस महानायक का जीवन 50 से भी अधिक सालो तक बॉलीवुड फिल्मों से जुड़ा रहा। तथा उनके जीवन के इस लम्बे कालखंड में अनेक ऐसे रोचक किस्से और कहानिया बनी और मिटी हैं जो कोई भी अवश्य जानना चाहेगा। यहाँ पर दिए गए ये अमिताभ के फिल्मी कैरियर से जुड़े उनके जीवन के कुछ महत्वपूर्ण पल जिनको उनके प्रशंसक तो अवश्य जानना चाहेंगे—
कैसे कैसे किया अमिताभ बच्चन ने अपने फ़िल्मी करियर का आगाज :-
फिल्म सात हिंदुस्तानी का स्टार्टिंग टायटल वो सीन था जिसमे दर्शको को महानायक की पहली झलक देखने को मिली।
अमिताभ बच्चन अपनी जिंदगी के पहले फ़िल्मी शॉट में अनवर अली का यादगार रोल निभाते हुए अमिताभ अपने एक हाथ से अपने बेटे का खत पढ़ रहे थे।
अरे यार…. सुनो भाई…. जरा यह तो पढ़िए ! साहिबज़ादे साहब का खत आया है !! और इस प्रकार यह बना वो पहला संवाद जिसके जरिये अमिताभ बच्चन फ़िल्मी परदे के माध्यम से भारत की ऑडियंस से मुखातिब हुए। 

फिल्म सात हिंदुस्तानी के लिए 5000 रूपये का पहला मेहनताना अमिताभ बच्चन को उनके अभिनय के लिए दिया गया। 
ख्वाजा अहमद अब्बास बने वो पहले निर्देशक जिन्होंने फिल्म सात हिंदुस्तानी को डायरेक्ट करके अमिताभ बच्चन के फ़िल्मी करियर का आगाज करवाया। 
सुरेखा पंडित और शहनाज थी अमिताभ बच्चन की पहली फ़िल्मी हीरोइन इनके साथ ही अमिताभ ने  फिल्म सात हिन्दुस्तानी से अपने फ़िल्मी करियर का बॉलीवुड में आगाज किया था। 
मोस्ट प्रोमिसिंग न्यू कमर का नेशनल अवार्ड फिल्म सात हिंदुस्तानी के लिए अमिताभ बच्चन के फ़िल्मी करियर का पहला पुरूस्कार था। 
14 फरवरी 1969 वो तारीख थी जब अपनी पहली फिल्म अमिताभ बच्चन ने साइन की थी। 

कैसा रहा अमिताभ का फ़िल्मी सफर :-
सन 1973 अमिताभ बच्चन के फ़िल्मी करियर का सबसे बेहतरीन साल था क्योंकि इस वर्ष आयी फिल्म जंजीर ने उनको बॉलीवुड में एक बड़े स्टार के रूप में स्थापित कर दिया था।
सन 1997 अमिताभ बच्चन के जीवन का सबसे बुरा वर्ष माना जाता है क्योंकि 1997 में आयी उनकी फिल्म मृत्युदाता बहुत बुरी तरह फ्लॉप हो गयी थी और उनके द्वारा खोली गयी फिल्म प्रोडक्शन कंपनी ABCL बड़े घाटे में चले जाने से अमिताभ बच्चन के सामने उस समय एक बड़ा वित्तीय संकट भी खड़ा हो गया था।
सन 1982 में फिल्म शक्ति में दिलीप कुमार के साथ काम करना अमिताभ बच्चन अपने जीवन का सबसे महत्वपूर्ण लम्हा मानते है। एक बार खुद अमिताभ ने कहा था कि "उनके लिए यह सपना सच होने जैसा अनुभव था"
महानायक अमिताभ बच्चन ने फिल्मों में अपने बेहतरीन काम के दम पर 350 से भी ज्यादा अवार्ड्स अपने नाम किए। फिल्म फेयर अवार्ड्स में 40 से अधिक नॉमिनेशनस का बड़ा कीर्तमान स्थापित किया। सन 1973 से लेकर सन 1984 तक लगभग हर साल अमिताभ बच्चन ने एक गोल्डन जुबली फिल्म बॉलिवुड को दी। 
तो ये कुछ विशेष बातें जो जुडी थी महानायक के फ़िल्मी करियर से। इन्ही सब पड़ावों को पार करते हुए लम्बू अमिताभ ने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन तक के सफर को तय किया। 







Latest Ringtones
Images
Filmfare
Baby Names
Myguru.in
Invest Legends
Whatsapp Status
Shayari
Shows
Love Calculator
Love Memes
Type in Hindi
Follow Us: