Ringtones S M Virals Love Status
Home » News » life story of bruce lee with important factors in hindi

लाइफ स्टोरी ऑफ़ ब्रूस ली : जानिए केवल 32 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह जाने वाले ब्रूस ली के जीवन से जुड़े कुछ इम्पोर्टेन्ट फैक्ट्स?




ब्रूस ली ये वो नाम है जिसके युवा आज भी उतने ही फैन है जितने उस जमाने में हुआ करते थे। अपनी मेहनत जूनून और दीवानगी ने इन्हे बाकी सामान्य लोगो से अलग बनाया और ये एक इंटरनेशनल सेलिब्रिटी के तौर पर जाने जाते है। महज 32 साल की उम्र में इतना नाम और शोहरत कमा कर इस दुनिया को अलविदा कह जाने वाले ब्रूस ली की लाइफ से जुड़े कुछ इम्पोर्टेन्ट फैक्ट्स यहाँ दिये गए है। जिन्हे जानकार उनके फैंस को तो बहुत ही अच्छा लगेगा। 

 

ब्रूस ली हाफ जर्मन और हाफ चाइनीज मूल के थे। जिसका कारण था ब्रूस ली की मदर का एक जर्मन और फादर का एक  चाइनीज होना। जिसका उन्हें फायदा हुआ तो साथ ही उन्हें इसकी वजह से लाइफ में काफी प्रॉब्लम्स भी फेस करनी पड़ी। पूरी तरह से चाइनीज ना होने के कारण ब्रुस ली को किसी भी चाइनीज कुंग फू स्कूल मे एडमीशन नही मिल सका। लेकिन कहा जाता है कि लाइफ में प्रॉब्लम्स आपको परफेक्ट बनाने के लिए ही आती है। इसी तरह ब्रूस ली भी चाइनीज कुंग फू स्कूल में एडमिशन न होने के कारण ip man से विंग चुन कुंग फू सीखने पहुंचे जो अब तक के ग्रेटेस्ट कुंग फू मास्टर माने जाते है। कहा जाता है कि ip man के कारण ही आज पूरे चाइना मे विंग चुन कुंग फू सबसे अधिक ट्रेंड में है।

 

चाइल्डहुड मे ब्रूस ली के माता पिता और फॅमिली के मेंबर्स उन्हे लिटिल फ़ीनिक्स या साई फोन के नाम से बुलाते थे, लेकिन  ये दोनों ही गर्ल्स नेम होते है। जिसका कारण था चाइनीस आइडियालोजी के अकॉर्डिंग बुरी शक्तियां घर के छोटे लड़को को पसंद नही करती। इसलिए लड़को को बुरी शक्तियों के दुष प्रभाव से बचाने के लिए उनको किसी गर्ल चाइल्ड का नाम दे दिया जाता था।  

 

ब्रूस को यूँ तो ग्रेटेस्ट मेटेरियल आर्टिस्ट माना जाता है लेकिन उनके फैंस को ये जानकार हैरानी होगी कि सन 1963 मे हुए मिलेट्री फिजिकल टेस्ट में वह फेल हो गए थे। यू एस आर्मी ड्राफ्ट बोर्ड के द्वारा लिया गया ये टेस्ट ब्रूस ली क्लियर नहीं कर पाए थे। हालाँकि वह फिजिकली तो बिलकुल फिट थे पर ऑय साइड वीकनेस के चलते वह फेल हो गए थे। ब्रूस ली की आंखो मे निकट दृष्टि दोष (मायोपिया) था जिसके लिए ली कॉन्टेक्ट लेंस का यूज करते थे। यह भी कहा जाता है कि ब्रूस ली कॉन्टेक्ट लेंस का प्रयोग करने वाले ब्रूस ली पहले इंसान थे।


कैमरा फेस करते समय अक्सर जब ब्रूस ली शॉट देते थे तो उनका शरीर पसीने से भीग जाता था। इसलिए उन्होने सर्जरी कराकर पसीने वाली ग्रंथी को ही निकलवा दिया था। पसीने के कारण ब्रूस ली नही चाहते थे कि कैमरे के सामने उनका लुक

भद्दा दिखे। बिना पसीने के वे कैमरे मे बहुत अच्छे दिखेंगे। उनको ये पता था कि ये एक बहुत ही ज्यादा रिस्की है, लेकिन इसके बावजूद उन्होने ये डिसीजन ले ही लिया।

 

एक बेहतरीन एक्टर, फाइटर होने के साथ साथ एक ब्रूस ली एक अच्छे डांसर भी थे। उन्होने बॉलरूम डांस करना भी सीखा था और सन 1958 मे हुए हांग कांग चा चा डांस कम्पटीसन भी जीता था। डांस लर्निंग के टाइम बनायीं गयी उनकी एक नोटबुक  हाँग काँग के एक म्यूजियम मे रखी गई है। इस नोट बुक में उन्होंने चा चा डांस के 108 स्टेपस लिख रखे थे। अपने डांसिंग के शौंक के बारे में ब्रूस ली कहा करते थे कि 18 साल की उम्र में ब्रूस ली एक बॉलरूम डांस इंस्ट्रक्टर बनाना चाहते थे।

 

चूँकि ब्रूस ली के माँ एक कैथलिक थी और पिता बौद्ध धर्म को फॉलो करते थे। इस तरह इनकी परवरिस दो धर्मो अलग अलग धर्मानुयाईयों के बीच हुई। हालाँकि इनके माता पिता अलग अलग रिलीजन को फॉलो करते थे उन्होने कभी भी ब्रूस ली को फाॅर्स नही किया। उनको किसी भी धर्म को फॉलो करने की छूट दी गयी थी। वह अपनी माँ के साथ चर्च जाते थे एक कैथोलिक स्कूल मे पढ़ते थे। इसके बावजूद भी ब्रूस ली किसी एक पर्टिकुलर रिलिजन से अट्रैक्ट नही हुए और उन्होने खुद एक इंटरव्यू के दौरान यह भी स्वीकार किया था कि वो एक नास्तिक हैं।

 

13 अगस्त 1970 को एक्सरसाइज करते समय अचानक उन्हे बैक पेन की प्रॉब्लम हुई। जब चैकअप किया गया तो पता चला कि उनको हुई पीठ दर्द की समस्या इसलिए हुई क्योंकि उन्होने वेट लिफ्टिंग से पहले सही से वार्म अप नही किया था। जिसका उनकी पीठ पर बुरी तरह असर पड़ा। डॉक्टर्स ने इस बैक पेन की वजह से उनको बता दिया था कि वो अब पहले की तरह कभी भी मार्शल आर्ट की प्रैक्टिस नही कर पायेंगे। जिसके बाद लाइफ टाइम यह दर्द ब्रूस ली को हमेशा परेशान करता रहा।

 

ब्रूस ली की मौत एक मिस्ट्री बनकर रह गयी। ब्रूस ली की डेथ किस तरह हुई इस बात के कई डिफरेंट आस्पेक्ट है, लेकिन  कभी भी कोई पर्टिकुलर रीज़न इस बात का नहीं बताया गया। उनकी मृत्यु के बारे में यही कहा जाता है की ब्रूस ली को 10 मई 1973 को सिर दर्द की प्रॉब्लम होने पर उन्हे तभी हॉस्पिटल ले जाया गया। इसके लगभग 1 महीने के बाद 20 जुलाई 1973 को एक बार फिर से दोबारा सिर दर्द की प्रॉब्लम होने पर उन्होने सिर दर्द की दवाई ली और छोटी सी झपकी लेने के लिए लेट गए। जिसके बाद वो दोबारा कभी नही उठे, जब तक उन्हें लेने के लिए एबुलेंस पहुची, ब्रूस ली की मौत हो चुकी थी। हालांकि उनके शरीर मे किसी तरह का कोई घाव नही मिला था किन्तु उनका दिमाग सूजकर काफी बड़ा हो गया था।


ब्रूस ली के मौत के बाद जब उनकी बॉडी का पोस्ट मार्टम किया गया तो उनके शरीर में भांग का होना बताया गया था जिसकी वजह से शुरुआत में उनकी डेथ का रीज़न माना जा रहा था। लेकीन क्वीन एलीजाबेथ हॉस्पिटल के पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर ने इस बात से साफ़ इंकार कर दिया था कि ब्रूस ली की मौत की वजह भांग हो सकती है। मौत के समय जब ब्रूस ली की उम्र महज  32 वर्ष की थी।

 

ब्रूस ली की तेजी और फुर्ती के बारे में बताया जाता है की उन्होने सन 1962 मे एक फाइट में अपने कम्पेटेटर को उन्होंने मात्र 11 सेकंड मे 15 घूसे व 1 लात मारी थी। एक सेकंड के पाँच सौ वेें हिस्से मे किसी को भी पंच करने की उनके अंदर गजब की फुर्ती थी। इसके आलावा ब्रूस ली किसी 6 इंच मोटी लकड़ी को ईजीली तोड़ सकने का दम रखते थे। ब्रूस ली ने जेम्स कार्बन के सामने एक 60 किलो के पंचिंग बैग को सिंगल साइड किक मे तोड़ दिया था। ब्रूस ली की ताकत और तेजी हमेशा लोगो को हिला कर रख देती थी।

 

इसे मिथ भी कहा जा सकता है लेकिन कुछ रिसर्च मे पाया गया है कि कम उम्र मे बहुत ज्यादा फेमस होने वाले लोगों की  मौत भी जल्दी ही हो जाती है। 

 








Latest Ringtones
Images
Filmfare
Baby Names
Myguru.in
Statusrays.com
Whatsapp Status
Shayari
Shows
Love Calculator
Love Memes
Type in Hindi
Follow Us: