Ringtones Movies Celebrities
प्रेम की अंतिम अभिव्यक्ति क्या है

प्रेम की अन्तिम अभिव्यक्ति है, जब आप प्रेम करते नहीं बल्कि खुद प्रेम हो जाते हैं। क्योंकि जब तक प्रेम किया जाता है भले ही सबसे अच्छे तरीके से क्यों न किया जाए, उस किए हुए प्रेम के पीछे एक दिमाग या मन (इन्द्रियां) हमेशा लगा रहता है जो इस किए हुए प्रेम को संचालित करता है । इस प्रकार ऐसा प्रेम यूटिलिटी बनकर ही रह जाता है। प्रेम में अगर दिमाग और इन्द्रियों का हस्तक्षेप है तब प्रेम की शुद्धता बरकरार नहीं रहती । अगर इस से बचना है तो अपको प्रेम करना नहीं बल्कि प्रेम होना पड़ेगा और तब आप प्रेम की निर्जीव तथाकथित श्रेष्ठ परिभाषा में फिट नहीं होते बल्कि प्रेम की परिभाषा आपके अस्तित्व से रिस रिस कर टपकती है। Read More





जिसको दुआओं में मांगा तू है 
वही रहनुमा तेरे बिना है 
मुश्किल एक भी कदम चलना।

Read More





कितनी वाकिफ़ थी वो मेरी मोहब्बत 
से वो रो देती थी और मैं हार जाता था।

Read More





काश वो आये और गले लगाकर कहे 
पागल मुझसे भी रहा नही जाता तेरे बिना।

Read More





वो जिसे जीने की वजह कहते हैं 
ना मेरे लिए वही हो तुम।

Read More




1   2   3   4   5   6   Next
Nice For What
Download
I was wrong
Download
airtel new tone 2011
Download
Athiraliyum

From Movie: Guppy

Download
Please Remember Me
Download
sai baba (6)
Download

♥ Images ♥

♥ Love Memes ♥


jaiganeshdeva.com
thelordshiva.com
jairadhekrishna.com
jaihanumanbhakti.com
jaimaadurga.com
saibababhakti.com
Latest Ringtones
Images
Filmfare
Myguru.in
Shayari
Love Calculator
Love Memes
Type in Hindi
Follow Us: