तहज़ीब और संस्कार........

हथियार है हुस्नवालों के





बस क्या बताऊं यारों, वजह उसे चाहने की....

भरी महफ़िल सिवा उसके, किसी सर दुपट्टा ना दिखा!





इश्क़ की फितरत ही, मलंग से यूँ रंग घोलना.....

जब बाजी है इशारों की , तो जुबां से क्या बोलना!!





"उम्र" ना पूछो
"इश्क़" करने वालों की हुज़ूर.
"मिजाज़-ए-आशिक़ी"
रखने वाले "जवां" ही रहते हैं.





सारा जहा उसी का है
जो मुस्कुराना जानता है
रोशनी भी उसी की है जो शमा
 जलाना जानता है
हर जगह मंदिर मस्जिद गुरूद्वारे है।
 लेकीन इश्वर तो उसीका है जो
  "सर" झुकाना जानता है!





अब तो हर बात याद रहती है

ग़ालिबन मैं किसी को भूल गया





तू जब रूबरू आईने के संवरती होगी
सोच.... आईने पे क्या गुजरती होगी!!





एक ख्याल ही तो हूँ मैं...याद रह जाऊँ...तो याद रखना...!
वरना सौ बहाने मिलेंगे...भूल जाना मुझे...!!!





परिस्थिति आदमी को परदेशी बना देता है!
वर्ना अपनी गली में जीना कौन नहीं चाहता है!





मदहोश ना कर मुझे अपना चेहरा दिखा कर...
मोहब्बत अगर चेहरे से होती तो खुदा दिल नही बनाता..!!





लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है ,
 लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है,
 लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,
 हम दोस्तो मे दुनिया देखते है.





आपके ह्रदय में, 
मुझे उम्रकैद मिले..

थक जायें सारे वकील,

फिर भी जमानत ना मिले!!!!





बस थोड़ा सा सुस्ताये थे
बचकर दुनियादारी से,
एक पुराना ख्वाब मिल गया
आँखों की अलमारी से..!!





ये अलग बात है कि वो मुझे हासिल नही .....
मगर उसके सिवा कोई मेरे इश्क़ के काबिल भी तो नही!!!!





सिलसिला आज भी वही जारी हैं,....

तेरी यादें, मेरी नींदों पर भारी हैं!!!!





नजर से दूर रहकर भी किसी की सोच में रहना,,,

किसी के पास रहने का तरीका हो तो ऐसा हो…..





गैर मुकम्मल सी ज़िन्दगी, वक्त की बेतहाशा रफ्तार.......

रात इकाई, नींद दहाई, ख्वाब सैंकड़ा और दर्द हज़ार....





आदत बदल सी गई है वक़्त काटने की,

हिम्मत ही नहीं होती अपना दर्द बांटने की।





मेरी आँखो ने पकड़ा है, उन्हे कई बार रंगे हाथ,

वो इश्क करना तो चाहते है , मगर घबराते बहुत है...





नज़र झुका के जब भी वो गुजरे हैं करीब से,
हम ने समझ लिया कि आदाब अर्ज़ हो गया..





अल्फाजो की प्यास किसे है,
मुझे तो तुम्हारे hmmm से भी इश्क है..!!





तहज़ीब में भी उसकी क्या ख़ूब अदा थी यारो....

नमक भी उसने अदा किया तो ज़ख़्मों पर छिड़क कर...!!!





मीलों का सफर
पल में बर्बाद कर गया

अपनों का ये कहना
कहो,.. कैसे आना हुआ?





उड़ने दो रंगो को इस बेरंग ज़िंदगी में एक.....

त्यौहार ही तो है जो हमें रंगीन बनाते हैं





तेरा ख्याल दिल से जाए तो 
कुछ और काम करूं......
दिल ..दिमाग सब पर तेरा कब्ज़ा है 
अब 
और बता क्या तेरे नाम करूं......




♥ Love Images ♥

Prev 1   2   3   4   5   6   7   8   9   10   Next
Ringtones
 
3d_bird_tone...
In
Download
with love...
Download
with love (1)...
Download
whistle of love...
Download
whistle...
Download
voo voo sms...
Download
vivah music...
Download
very super tone ever...
Download
very sad song...
Download
usher vs dj...
Download
turkish music...
Download