♥ Love Shayari ♥

View All

कुछ चीज़ें अपने हाथों में नहीं होती
 जैसे वक्त,
 हालात और तुम्हारा हाथ

ये इनक़ार ही है जो मुझे तेरा तलबगार रखता है....

गर इज़हार कर दो तुम तो शायद..  खास से आम हो जाओ!

मयखाने चाहे लाख बंद कर दें ये जमाने वाले...      

फिर भी हज़ारों हैं यहाँ आँखो से पिलाने वाले!!

रहने दो ना मुझे तुझमे उलझा हुआ सा ही...

सुलझते हैं गर धागे तो अलग हो जाते हैं....!!

मै खुश हू कि उनकी नफ़रत का इकलौता वारिस हूँ....
वरना मोहब्बत तो उन्हें कई लोगो से रही होगी!!!!!

इतना भी आसान नहीं होता अपने ढंग से ज़िंदगी जी पाना...

बहुतों को खटकने लगते हैं, जब हम खुद को जीने लगते हैं...

तुमने तीर चलाया तो कोई बात न थी,
ज़ख्म मैंने जो दिखाया तो बुरा मान गए…

जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है

यूँ बेहिसाब वफ़ा ना कर किसी से यूं मदहोश हो कर.......
मुसलसल रिवाज़ है कि एक ख़ता के बदले सारी वफ़ाएं भुला देते हैं लोग!!!

तू लाख याद कर पुराने फ़साने .... 

अब ना लौटेंगे वो गुजरे ज़माने!!

चलते-चलते मुझ से पूछा, 
मेरे पांव के छालो ने...
बस्ती कितनी दूर बसा ली, 
दिल में रहने वालो ने...!

बहुत पुख्ता मिजाज है वो शख्स.. 

याद रखता है कि याद नहीं करना!!

सुर्ख आँखो से जब वो देखते है,
हम घबराकर आँखे झुका लेते है,
क्यू मिलाए उन आँखो से आखे,
सुना है वो आखो से अपना बना लेते है।

धर कर चरण विजित श्रृंगों पर झंडा वही उड़ाते हैं।
अपनी ही ऊँगली पर जो खंजर की जंग छुड़ाते हैं ।
पड़ी समय से होड़ खींच मत तलवों से कांटे रूककर।
फूंक फूंक चलती न जवानी खतरों से डरकर झुककर।
नींद कहाँ उनकी आँखों में जो धुन के मतवाले हैं ।
गति की तृषा और बढ़ती पड़ते पग में जब छाले हैं।।

नया कुछ भी नहीं हमदम, वही आलम पुराना है;
तुम्हीं को भुलाने की कोशिशें, तुम्हीं को याद आना है।

जिंदगी का बिखर जाना अब आम बात है
किसी मोड़ पर मर जाना अब आम बात है
खुशियों की खोज में लोग निकलते हैं शहर में
वहां से मातम लेकर आना अब आम बात है
तेरी दुनिया में ऐ खुदा अब छोटी सी बात पर
खत लिखके जहर खाना अब आम बात है
प्यार के परिंदे जो कहीं उड़ते हुए दिख जाएं
उनका कत्ल कर जाना अब आम बात है

आंखें पढ़ो और जानो हमारी रज़ा क्या है.....

हर बात लफ़्ज़ों से बयान हो तो फिर मज़ा क्या है!

दर्द ए दिल की दवा के लिये,हम महफिल में आया करते है,
दो घूंट बस पीते है,बाकी दिल जलाया करते है..

कुछ लोग अच्छी जगह की तलाश करते हैं
और 
कुछ लोग जहाँ जातें है उस जगह को ही अच्छी जगह बना  देते है

हुस्न की इश्क से जब जब बात होती है,
महफिल में उनकी बात से हर बात होती है,
वह कहते रहे कोई बात नहीं हम दोनों में,
पर उनकी कहानी से नई शुरूआत होती है

तेरी मुहब्बत की हिफाज़त कुछ इस तरह की हमने, जब देखा किसी ने प्यार से नज़रें झुका ली हमने 

इक उम्र तक मैं जिसकी जरुरत बना रहा 
फिर यूँ हुआ कि उस की जरुरत बदल गई।

किस्मत वालों को ही मिलती है पनाह मेरे दिल में,
यूँ ही हर शक्स को जन्नत का पता नहीं मिलता!!!!!

आँख खुलते ही याद आ जाता है तेरा चेहरा...!!

दिन की ये पहली ख़ुशी भी कमाल होती है...!!!!

आँखे खोलू तो चेहरा सामने तुम्हारा हो,
बंद करू तो सपना तुम्हारा हो,
मर जाऊ तो भी कोई गम नही,
अगर खफन के बदले आँचल तुम्हारा हो!

मेरे दिल कि सरहद को पार न करना,
नाजुक है दिल मेरा वार न करना,
खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना।

देखकर दर्द किसी का,
जो आह निकल जाती है...

बस इतनी सी बात,
हमें इन्सान बना जाती है!!

मत पूछ कि मेरा #कारोबार क्या है,

 #मोहब्बत की दुकान है #नफरत के बाजार में।।।

ज़िन्दगी यूँ हुई बसर तनहा......
क़ि काफिला साथ और सफर तनहा!!!!!

इश्क़ नीम की वो डाली है...

जिसका नया पत्ता ही मीठा लगता है......

Prev 1   2   3   4   5   Next >>