गैरहाज़िर और गैरजिंमेदार कन्धे

विश्वास साहब अपने आपको भाग्यशाली मानते थे। कारण यह था कि उनके दोनो पुत्र आई.आई.टी. करने के बाद लगभग एक करोड़ रुपये का वेतन अमेरिका में प्राप्त कर रहे थे। विश्वास साहब जब सेवा निवृत्त हुए तो उनकी इच्छा हुई कि उनका एक पुत्र भारत लौट आए और उनके साथ ही रहे ; परन्तु अमेरिका जाने के बाद कोई पुत्र भारत आने को तैयार नहीं हुआ, उल्टे उन्होंने विश्वास साहब को अमेरिका आकर बसने की सलाह दी। विश्वास साहब अपनी पत्नी भावना के साथ अमेरिका गये ; परन्तु उनका मन वहाँ पर बिल्कुल नहीं लगा और वे भारत लौट आए।
दुर्भाग्य से विश्वास साहब की पत्नी को लकवा हो गया और पत्नी पूर्णत: पति की सेवा पर निर्भर हो गई। प्रात: नित्यकर्म से लेकर खिलाने–पिलाने, दवाई देने आदि का सम्पूर्ण कार्य विश्वास साहब के भरोसे पर था। पत्नी की जुबान भी लकवे के कारण चली गई थी। विश्वास साहब पूर्ण निष्ठा और स्नेह से पति धर्म का निर्वहन कर रहे थे।
एक रात्रि विश्वास साहब ने दवाई वगैरह देकर भावना को सुलाया और स्वयं भी पास लगे हुए पलंग पर सोने चले गए। रात्रि के लगभग दो बजे हार्ट अटैक से विश्वास साहब की मौत हो गई। प Read More






ज़रा सी रंजिश पर,ना छोड़,
किसी अपने का दामन,
ज़िंदगी बीत जाती है,अपनो को अपना बनाने में !

Read More




Prev 1   2   3   4   5   6   7   8   9   Next
Gaddi vich rakha ek khund...
In Punjabi
Download
Katra Katra Milti Hai Kat...
Download
Naachegi Saraswati jayegi...
Download
Reet Yehi Jag Ki...
Download
Mehfil Mein Bar Bar...
Download
Saans(loverays.com)...
Download

♥ Love Images ♥

♥ Love Memes ♥


Love Images
Ringtones
Shayari
Love Calculator
Love Memes
Type in Hindi