प्रेम की अंतिम अभिव्यक्ति क्या है

प्रेम की अन्तिम अभिव्यक्ति है, जब आप प्रेम करते नहीं बल्कि खुद प्रेम हो जाते हैं। क्योंकि जब तक प्रेम किया जाता है भले ही सबसे अच्छे तरीके से क्यों न किया जाए, उस किए हुए प्रेम के पीछे एक दिमाग या मन (इन्द्रियां) हमेशा लगा रहता है जो इस किए हुए प्रेम को संचालित करता है । इस प्रकार ऐसा प्रेम यूटिलिटी बनकर ही रह जाता है। प्रेम में अगर दिमाग और इन्द्रियों का हस्तक्षेप है तब प्रेम की शुद्धता बरकरार नहीं रहती । अगर इस से बचना है तो अपको प्रेम करना नहीं बल्कि प्रेम होना पड़ेगा और तब आप प्रेम की निर्जीव तथाकथित श्रेष्ठ परिभाषा में फिट नहीं होते बल्कि प्रेम की परिभाषा आपके अस्तित्व से रिस रिस कर टपकती है। Read More





जिसको दुआओं में मांगा तू है 
वही रहनुमा तेरे बिना है 
मुश्किल एक भी कदम चलना।

Read More





कितनी वाकिफ़ थी वो मेरी मोहब्बत 
से वो रो देती थी और मैं हार जाता था।

Read More





काश वो आये और गले लगाकर कहे 
पागल मुझसे भी रहा नही जाता तेरे बिना।

Read More





वो जिसे जीने की वजह कहते हैं 
ना मेरे लिए वही हो तुम।

Read More




1   2   3   4   5   6   Next
Tu Jo Kahe To...
Download
Halka Halka...
Download
Oh Mama Mama...
Download
ringtone sweet...
Download
mohabbat ibadat shikayat ...
Download
car seat belt tone...
Download

♥ Love Images ♥

♥ Love Memes ♥


Love Images
Ringtones
Myguru.in
Shayari
Love Calculator
Love Memes
Type in Hindi