दिल की बात छुपाना आता नही,
किसी का दिल दुखाना आता नही,
आप सोचते है हम भूल गए आपको,
पर कुछ अच्छे दोस्तो को भूलना हमको आता नही.





ताल्लुकात बढ़ाने हैं तो 
कुछ आदतें बुरी भी सीख ले ........

ऐब न हों..
तो लोग महफ़िलों में नहीं बुलाते...!





जिंदगी में कुछ दोस्त खास बन गये
मिले तो मुलाकात और बिछड़े तो याद बन गये
कुछ दोस्त धीरे धीरे फिसलते चले गये
पर जो दिल से ना गये वो आप बन गये





 तप्त हृदय को , सरस स्नेह से ,
     जो सहला दे , मित्र वही है।

     रूखे मन को , सराबोर कर, 
     जो नहला दे , मित्र वही है।

     प्रिय वियोग  ,संतप्त चित्त को ,
     जो बहला दे , मित्र वही है।

     अश्रु बूँद की , एक झलक से ,
     जो दहला दे , मित्र वही है।





लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है ,
 लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है,
 लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,
 हम दोस्तो मे दुनिया देखते है.





यादो का शिलशील बनाये रखना दोस्त हो तो दोस्ती निभाये रखना ।
जान तो नही मागते कमसे कम जान पहचान तो बनाये रखना ।।





दोस्ती वो नहीं जो जान देती है,
दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है,
अरे सच्ची दोस्ती तो वो है..
जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है|





न जाने सालों बाद कैसा समां होगा,
हम सब दोस्तों में से कौन कहा होगा,
फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे ख्वाबों मे,
जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबों मे.





दोस्ती वो नहीं जो जान देती है,
दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है,
अरे सच्ची दोस्ती तो वो है..
जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है|





इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है,

इश्क मेरी रुह, तो दोस्ती मेरा ईमान है,

इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी,

पर दोस्ती पर, मेरा इश्क भी कुर्बान है





दोस्ती किसी की रियासत नहीं होती,

मौत किसी की अमानत नहीं होती,

सम्भाल कर रखना हमारी अदालत में कदम,

यहाँ दोस्ती तोड़ने वाले की जमानत नहीं होती.





शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये
जीवन के वो हसीं पल मिल जाये
चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे
शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ ।





क्या हुआ अगर जिंदगी में हम तन्हा है ???
लेकिन इतनी अहमियत तो
दोस्तो में बना ही ली है कि...
मेला लग जायेगा उस दिन शमशान में,
जिस दिनमैँचला जाँऊगा आसमान में!!





टेक्स ना लगा देना कभी मेरी दोस्ती पर,
मेरी ये सम्पति मेरी आय से ज्यादा है !!





मेरे यार ने तोहफे में घड़ी तो दी है...

*मगर कभी वक़्त नही दिया.!!





दोस्तो से रिश्ता रखा करो जनाब
तबियत मस्त रहेगी

ये वो हक़ीम हैं
जो अल्फ़ाज़ से इलाज कर दिया करते हैं.....





कशमकश में हूँ यारों !!!

आप ही बताओ !!!

विवाह में "वाह" छिपी है...या "आह"..???
 





"तासीर इतनी ही काफी है 
की तू मेरा दोस्त है..

क्या ख़ास है तुझ में 
ये तो कभी सोचा ही नही".




♥ Love Images ♥

1   2   Next