तेरा न मिलना मेरा नसीब ही सही ऐ सनम..

लेकिन मेरी क़िस्मत में लिखा है तुझे टूट के चाहना 

Share