खुद की जान देकर अपने प्यार को बचाया

एक बार एएक बार एक लड़का होता है. वह अपनी पढ़ाई के लिए दूसरे शहर जाता है. लड़का जहां रहता है उसके घर के सामने एक बेहद खूबसूरत लड़की रहती है. सुबह-सुबह लड़की छत पर आती है दोनों कि नजरें आपस में मिलती है. दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगते हैं. फिर एक दिन दोनों टाइम निकाल कर एक पार्क में मिलते हैं.

कुछ दिनों बाद उनकी यह मुलाकात प्यार में बदल जाती है. दोनों एक दूसरे को अच्छे से जानने लगते हैं. वे दोनों एक दूसरे से सच्ची मोहब्बत करने लगते हैं.
एक महीने बाद लड़का अपने घर अपने मां बाप से मिलने जाता है. लड़की का फोन आता है और वह कहती है कि मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती. जब मैं आंखें बंद करती हूं तो आपको ही देखती हूं. आंखे खोलती हूं तो आपको ही देखता देखना चाहती हूं. प्लीज! तुम जल्दी ही वापस आ जाओ.

तब लड़का फिर से वहां जाता है और उस लड़की से मिलता है.

एक दिन लड़का किसी बहाने से उस लड़की के घर जाता है. घर में लड़की की मां और लड़की का भाई होते है.

तब वह लड़का उसकी मम्मी से कहता है- “आंटी जी! क्या आप मुझे इस्त्री दे सकते हैं. मुझे कपड़े प्रेस करने हैं.”

लड़की की मां कहती है- “हां बेटा! ले जाओ.”

तब वह लड़की उसकी तरफ मुस्कुराती है. फिर लड़की का फोन आता है और लड़के से कहती है कि तुम बड़े बहादूर हो. मेरे घर आ गए वाह!

तब लड़का कहता है कि एक दिन इसी तरह तुम्हारा हाथ भी मांगने आ जाऊंगा.
लड़की हंसते हुए कहती है कि तुम पागल हो.

एक दिन लड़की छत पर आती है और एक दूसरे से इशारों में बात करते हैं. अचानक लड़की का भाई उन दोनों को देख लेता है. वह बहुत गुस्से में होता है और अपनी बहन से कहता है कि आज के बाद तुम छत पर नहीं जाओगी.

तब लड़की को लगता है कि शायद भाई को शक हो गया है वह फोन करके लड़के को बताती है. कुछ दिनों दोनों एक-दूसरे को देख नहीं पाते हैं.

एक बार लड़की का भाई अपनी बहन को फोन पर बात करते देख लेता है और तब उसका गुस्सा और बढ़ जाता है. तब वह लड़के को मारने की सोचता है. लड़की का भाई अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसे मारने का प्लान बनाता है. वह लड़का इस बात से अनजान होता है.

एक दिन वह उस लड़की को फोन करता है और कहता है मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकता. आज शाम को तुम्हें मुझसे मिलना होगा. वह लड़का उसे जगह बता देता है जहां मिलना होता है लड़का टाइम पर वहां पहुंच जाता है और वहां अपनी बाइक खड़ी कर देता है तब वह लड़की को फोन करने के लिए साइड में ले जाता है. तभी अचानक लड़की का भाई अपने दोस्त के साथ आता है और बाइक की ब्रेक फेल कर देता है उसे यह नहीं पता होता कि उसकी बहन यहां आने वाली है.

ब्रेक फेल करके वह वहां से चला जाता है तब वह लड़की वहां आती है और वह दोनों एक दूसरे के गले मिलते हैं तब लड़का एक बार फिर से अपने प्यार का इजहार करता है और लड़की से कहता है कि चलो थोड़ी दूर ड्राइव पर चलते हैं. लड़का बाइक स्टार्ट करता है, लड़की पीछे बैठ जाती है.

थोड़ी दूरी पर लड़का बाइक की स्पीड तेज कर देता है और सोचता है कि मैं अचानक से ब्रेक लगाऊँगा और वह मेरे पीठ पर आ गिरेगी लड़का जैसे ही ब्रेक लगाता है, ब्रेक नहीं लगते बाइक की स्पीड तेज हो जाती है. लड़के को एहसास हो जाता है कि ब्रेक फेल हो गई. वह अंदर ही अंदर रोता है लड़की कहती है कि तुम बाइक इतनी तेज क्यों चला रहे हो.

लड़का- “मुझे अच्छा लगता है तेज चलाना.”

लड़की- “बाइक धीरे करो; मुझे डर लग रहा है.”

लड़का- “मुझसे प्यार करती हो.”

लड़की- “अपनी जान से भी ज्यादा, मैं तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूं. आई लव यू.

लड़का- “मुझे हग करो.”

लड़की से जोर से पीछे से पकड़ती है तब लड़का कहता है कि तुम मेरा हेलमेट पहन लो.

लड़की कहती है- “क्यों”

लड़का कहता है- “पहन लो ना प्लीज!”

तब लड़की हेलमेट पहन लेती है.

अगले दिन अखबार में आता है की बाइक के ब्रेक फेल होने के कारण एक लड़के की मौत हो गई लेकिन उसके पीछे बैठी लड़की बच गई. तब लड़की का भाई वहां पहुंचता है और देख कर बहुत दुख होता है तो इस प्रकार लड़का अपने प्यार को बचाने के लिए अपनी जान दे देता है.